मेरा गद्य ब्लॉग - सोच विचार

Friday, January 11, 2013

कायदे बदलेंगे , दस्तूर बदलेगा

कायदे बदलेंगे , दस्तूर बदलेगा ।
तुम चाहोगे तो जरूर बदलेगा ।।

खोखले वादे नहीं , मजबूत इरादे करो ।
वो दुश्मन जो है नशे में चूर , बदलेगा ।।

देख लो जब झुण्ड भेड़ों के जाग जायेंगे ।
भेड़ियों का जमाना मगरूर बदलेगा ।।

" प्रवेश "

No comments:

Post a Comment