मेरा गद्य ब्लॉग - सोच विचार

Monday, January 29, 2018

समर्थक

ये जो कट्टर समर्थक हैं
पक्ष और विपक्ष के
जो उतारू हैं
मरने - मारने पर
लड़ने वाले उन दो मेंडों की तरह हैं
जिनमें से जीतने वाला
देवता को चढे़गा
और हारने वाले की दावत
पूरा गाँव खायेगा । ~ प्रवेश ~

1 comment:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल बुधवार (31-01-2018) को "रचना ऐसा गीत" (चर्चा अंक-2865) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete