मेरा गद्य ब्लॉग - सोच विचार

Thursday, February 13, 2014

यूँ ही किसी के सितारे बुलंद नहीं होते ||

विचारों में जिनके कभी अंतर्द्वंद नहीं होते |
मेहनती की उन्नति के दरवाजे बंद नहीं होते |
सफलता बेताबी से कदम चूमती है उनके ,
यूँ ही किसी के सितारे बुलंद नहीं होते || ~ प्रवेश ~

No comments:

Post a Comment